From Nirog: Health Information in Hindi

Eye: Structure of the Eyes | आंखों की बनावट

Diagram of the cross-section of eye
आंखों की बनावट

1. Cornea | कोर्निया - आंख के सबसे सामने के भाग को कहते हैं| यह स्वच्छ होता है| इसे आंसू से आक्सीजन और खाना मिलता है| बहुत अधिक कोंटेक्ट लेंस (contact lens) लगाने से, आप कोर्निया में आक्सीजन मिलने का कमी कर सकते हैं, जिससे कि उसमें बल्ड वेस्सल निकल सकते हैं| इसके लिए फिर सर्जरी करना पड़ सकता है|

2. Pupil | प्यूपिल - आईरिस के बीच छेद को कहते हैं|

3. Iris | आईरिस - यह लेंस के आगे स्थित एक गोल पर्दा को कहते हैं, जो कि यह नियत करता है कि आंखों में कितना रोशनी घुसे| अगर अन्धेरा होता है, तो आईरिस सिकुड़ जाता है, और प्यूपिल बड़ा हो जाता है, जिससे कि अधिक से अधिक रोशनी आंखों में प्रवेश कर सकता है| अगर बहुत अधिक रोशनी होता है, तो आईरिस फ़ैल जाता है, और प्यूपिल छोटा हो जाता है, जिससे कि कम से कम रोशनी आंखों में प्रवेश कर सकता है|

4. Canal of Schelmm | कनाल ऑफ शलेम - नीचे देखें "एकुअस हयूमर"

5. Ciliary muscle | सीलियरी मसल - यह लेंस को सही जगह पर जमा के रखता है, और लेंस को फोकस करने में मदद करता है| साथ ही में यह "एंटीरीयर चेम्बर स्थित एकुअस हयूमर" को बनाता है|

6. Suspensory Ligaments | ससपेंसरी लिगामेंट्स - यह लेंस को सहारा देता है|

7. Lens | लेंस - यह किसी केमरा के लेंस जैसे होता और पास या दूर के चीजों को देखने में मदद करता है| 40 साल के उम्र के बाद, सभी का लेंस सख्त होने लगता है, जिससे कि फोकस करने में दिक्कत होता है| लेंस में सफेदी होने से देखने में दिक्कत होता है, और उसे केटरेक्ट (cataract) कहते हैं|

8. Lens capsule | लेंस केपसूल - यह लेंस के बाहर एक थैली के जैसे होता है, और लेंस को संभाल करके रखता है|

9. Retinal blood vessels | रेटिनल ब्लड वेस्सल - ये रेटिना में स्थित खून पहुंचानेवाले ब्लड वेस्सल को कहते हैं| इसमें स्थित बल्ड वेस्सल में अगर कोई बीमारी होता है, तो उससे सूजन और खून का रिसना हो सकता है| कभी कभार, इसके साथ रेटिना भी खींच जाता और उससे अंधापन हो सकता है, जिसे रेटीनल डीटेचमेंट (retinal detachment) कहते हैं|

10. Optic Disc | ओप्टिक डिस्क - यहां से ओप्टिक नर्व आंख से दिमाग के लिए निकलता है| यहां पर कोई भी रोशनी पहचानने के लिए सेल नहीं होता है, और इससे यहां पर कुछ नहीं दिखाई देता है| इसे "ब्लाईंड स्पोट (Blind spot)" कहते हैं|

11. Optic blood vessels | ओप्टिक ब्लड वेस्सल

12. Optic nerve | ओप्टिक नर्व

13. Macula | मेकूला - यह मेकूला के बाहरी भाग को कहते हैं| यहां पर किसी चीज को साफ़ से देखने में मदद करता है, या किसी चीज पर फोकस करने में मदद करता है| कुछ लोगों में बुढ़ापे में एक बीमारी होता, जिसे "एक्यूट मेकुलर डिजेनेरेशन (acute macular degeneration) कहते हैं, और इससे अंधापन हो सकता है|

14. Fovea | फोविया - यह मेकूला के सबसे बीच का भाग होता है| यहां पर सबसे साफ़ दिखाई देता है, जैसे कि पढ़ने में, या फिर टी वी देखने में|

15. Retina | रेटिना - आंख के पीछे स्थित पर्दे को कहते हैं| इसमें दो तरह के सेल होते हैं - रोड्स (Rods) और कोंस (Cones)| रोड्स (Rods) आपको अंधेरे में देखने में मदद करता है, और यह सफ़ेद और काला में अंतर बताता है| कोंस (Cones), रंग को देखने में मदद करता है|

16. Choroid | कोरोय्ड - यह आंख के बीच का स्तर होता है, जिसमें कि ब्लड वेस्सल होते हैं| इससे रेटिना को आक्सीजन और खाना मिलता है| इसमें स्थित बल्ड वेस्सल में अगर कोई बीमारी होता है, तो उससे सूजन और खून का रिसना हो सकता है, जैस कि "एक्यूट मेकुलर डिजेनेरेशन (acute macular degeneration) में होता है|

17. Sclera | स्कलेरा - आंख के सफ़ेद बाहरी स्तर को कहते हैं, जो कि एक कवच के तरह अंदर के चीजों को संभाल कर रखता है| आंख को सभी तरफ घुमाने के लिए 6 "ऑर्बिटल मसल" इससे जुड़ें होते हैं|

18. Posterior chamber containing Vitreous humor | पोस्टिरीयर चेम्बर में विटरियस हयूमर होता है| लेंस के पीछे के जगह को "पोस्टिरीयर चेम्बर" कहते हैं| इसमें "विटरियस हयूमर" होता है| कुछ बीमीरी में या बुढापे में, यह सिकुड़ जाता है, उसे "विटरियस डीटेचमेंट (vitreous detachment) कहते हैं| कभी कभार, इसके साथ रेटिना भी खींच जाता और उससे अंधापन हो सकता है, जिसे रेटीनल डीटेचमेंट (retinal detachment) कहते हैं|

19. Orbital Muscles | ऑर्बिटल मसल - यह आंखों को घुमाने के लिए होते हैं|

20. Conjunctiva | कंजंक्टिवा - आंखों के सबसे बाहरी स्तर को कहते हैं, जिससे कि आंसू बनते हैं| इसमें इन्फेक्शन या एलर्जी हो सकता है|

21. Anterior chamber containing Aqueous Humor | एंटीरीयर चेम्बर में स्थित एकुअस हयूमर होता है| "एकुअस हयूमर" लेंस और कोर्निया को आक्सीजन और खाना पहुंचाता है| "एकुअस हयूमर" सीलियरी बोडी से बनता है, और फिर "कनाल ऑफ शलेम" के द्वारा आंख के बाहर के ब्लड वेस्सल में निकलता है| अगर किसी कारण से, "एकुअस हयूमर" का बहाव जाम हो जाता है, तो आंखों का प्रेशर बढ़ जाता है, जिसे गलूकोमा (glaucoma) कहते हैं|

Retrieved from http://nirog.info/index.php?n=Eye.Structure-of-Eye
Page last modified on February 15, 2010, at 05:40 AM EST