From Nirog: Health Information in Hindi

Labs: Blood Sugar | खून में चीनी का स्तर (बल्ड शुगर)

Blood sugar check
चीनी का जांच

बल्ड शुगर

खून में चीनी का स्तर (बल्ड शुगर या Blood Sugar) का एक सामान्य स्तर होता है। खून में अनेक प्रकार के चीनी होते हैं, किंतु बल्ड शुगर मुख्य रूप से खून में ग्लुकोज़ (Glucose) को कहा जाता है। अन्य प्रकार के चीनी के नाम हैं – फ्रकटोज़ (Fructose) और गेलेकटोज़ (Galactose)।
खून का ग्लुकोज़, शरीर में, उर्जा (Energy) का प्रमुख स्रोत है। इसके बिना सभी अंगों को मिनटों में नुकसान पहुंच सकता है। उदाहरण के लिये, जब किसी कारण से दिल के रक्त प्रवाह में रुकावट आता है, तो उर्जा के कमी से दिल का धड़कन रुक सकता है। इसे “दिल का दौरा” या हार्ट अटेक (Heart Attack) कहते हैं, और इससे उस मरीज़ का मौत भी हो सकता है।

अतः, शरीर के सभी अंग और उनके सेल में सदा ग्लुकोज़ का सप्लाई बना रहना, जिंदगी के लिये अत्यंत ज़रूरी है।

सामान्य स्तर

सामान्य स्थिती में, बल्ड शुगर, 4 से 6 मिलीमोल प्रति लिटर या 70 से 100 मिलीग्राम प्रति डेसीलिटर के बीच होता है। खाना खाने के बाद बल्ड शुगर बढ जाता है, और सबसे कम बल्ड शुगर सुबह उठने के समय होता है।

नियंत्रण

शरीर के पेनक्रियाटिक ग्रंथि (Pancreatic Gland) से निकले हुए विभिन्न होरमोन (hormones) बल्ड शुगर को अच्छे तरह से नियंत्रित रखते हैं। उदाहरण के लिये जैसे उपवास में, जब रक्त में ग्लुकोज़ (बल्ड शुगर या Blood Sugar) कम हो जाता है, तो ग्लुकागोन होरमोन (Glucagon hormone) के असर से, ग्लाईकोजन (Glycogen) से ग्लुकोज़ (Glucose) का निर्माण कलेजा (लिवर या Liver) में किया जाता है, और बल्ड शुगर ठीक हो जाता है। दूसरे तरफ जब खाने के बाद बल्ड शुगर अत्याधिक हो जाता है, तो इंसुलिन होरमोन (Insulin hormone) के असर से रक्त से अतिरिक्त ग्लुकोज़ को कलेजा (लिवर या Liver) और मांस-पेशियों (मस्सल या muscle) में भेज दिया जाता है। वहां अतिरिक्त ग्लुकोज़ को ग्लुकोज़ (Glucose) से ग्लाईकोजन (Glycogen) बना कर जमा रखा जाता है।

बीमारी

अगर बल्ड शुगर को अच्छे तरह से नियंत्रित न रखा गया तो अनेक बीमारी हो सकता है।

मधुमेह या डायबिटीज़ मेलिटस (Diabetes Mellitus), अधिक बल्ड शुगर या हाइपरग्लाईसेमिया का सबसे प्रमुख कारण है। इसमें शरीर के बल्ड शुगर स्तर नियंत्रण बिगड़ जाता है।

शरीर में चीनी

आपको जान कर आश्चर्य होगा कि शरीर में कितना कम शुगर होता और उसे कैसे कस के शरीर नियंत्रित रखता है। उदाहरण के लिये नीचे किसी व्यक्ति के चीनी का हिसाब दिखाया गया है। अगर मान लिया जाय कि किसी व्यक्ति का वजन 75 किओग्राम है।

सामान्य स्थिती में बल्ड शुगर = 100 मिलीग्राम प्रति डेसीलिटर = 1 ग्राम प्रति लिटर

अर्थात, शरीर में बल्ड शुगर कस के नियंत्रण में रहता है। और, आप अगले बार चाय में चीनी लें, या फिर जिलेबी या रसगुल्ला खायें, तो सोचें कि शरीर के इस नियंत्रण पर आप कितना जोर डाल रहे हैं।

डायबिटीज़ में बल्ड शुगर

मधुमेह या डायबिटीज़ के रोग में शरीर यह नियंत्रित नहीं कर पाता है। सालों तक का अनियंत्रित बल्ड शुगर से शरीर के विभिन्न अंगों को नुकसान पहुंचाता है, जैसे कि आंख, गुर्दे (किडनी), दिल, पैर और अनेक रोग, और अंत में वो अंग खराब हो जाते हैं। इस कारण से मरीज़ को जिंदगी भर कुछ न कुछ बिमारी लगा रख सकता है और अंत में जानलेवा भी हो सकता है।

अगर आपको या आपके घर में किसी को डायबिटीज़ है, तो खून में चीनी को नियंत्रित रख के डायबिटीज़ के बुरे असर से बच सकते हैं।

लक्ष्य

डायबिटीज़ के विभिन्न संगठनों के द्वारा खून में चीनी (बल्ड शुगर या Blood Sugar) का लक्ष्य के बारे में बताया गया है। यह लक्ष्य में कुछ अंतर हैं। उस पर से किस युनिट में नापें, तो लक्ष्य भी बदल जाता है।
भले ही अलग – अलग लक्ष्य दिया गया है, लेकिन सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि आप और आपका डाक्टर मिल कर किसी एक सारणी को मानकर, अपना खून में चीनी का स्तर (बल्ड शुगर या Blood Sugar) को नियंत्रित करने का कोशिश करें।

बल्ड शुगर के मात्रा (मिलीग्राम प्रति डेसीलिटर) का लक्ष्य क्या है?

 ADA (ए डी ए)AACE (ए ए सी इ)
खाने से पहले या उपवास में70 से 130110 से कम
खाने के 2 घंटे बाद180 से कम140 से कम
A1C (ए 1 सी)7 % से कम6.5 % से कम

बल्ड शुगर के मात्रा (मिलीमोल प्रति लिटर) का लक्ष्य क्या है?

 ADA (ए डी ए)AACE (ए ए सी इ)
खाने से पहले या उपवास में3.9 से 7.26.1 से कम
खाने के 2 घंटे बाद10 से कम7.8 से कम
A1C (ए 1 सी)7 % से कम6.5 % से कम

शब्दार्थ

और भी देखें

Retrieved from http://nirog.info/index.php?n=Labs.Blood-Sugar
Page last modified on February 04, 2010, at 02:47 PM EST