From Nirog: Health Information in Hindi

Nutrition: Vitamin A | विटामिन ए

कार्य

विटामिन आंखों से देखने दे लिये अत्यंत आवश्यक होता है। साथ ही यह बीमारी से बचने के काम आता है। यह विटामिन शरीर में अनेक अंगों को सामान्य रूप में बनाये रखने में मदद करता है जैसे कि स्किन, बाल, नाखून, ग्रंथि, दांत, मसूडा और हड्डी।

अभाव

सबसे महत्वपूर्ण स्थिती जो कि सिर्फ विटामिन ए के अभाव में होता है, वह है अंधेरा में कम दिखाई देना, जिसे नाईट ब्लाइंडनेस (Night Blindness) कहते हैं। इसके साथ आंखों में आंसू के कमी से आंख सूख जाते हैं, और उसमें घाव भी हो सकता है। बच्चों में विटामिन ए के अभाव में विकास धीरे हो जाता है, जिससे कि उनके कद पर असर कर सकता है। स्किन और बालों में भी सूखापन हो जाता है और उनमें से चमक चला जाता है। संक्रमित बीमारी होने का संभावना बढ जाता है।
बहुत अधिक विटामिन ए लेने से क्या हो सकता है? अत्याधिक विटामिन ए लेने से शरीर पर अनेक दुर्प्रभाव हो सकते हैं जैसे कि सिरदर्द, देखने में दिक्कत, थकावट, दस्त, बाल गिरना, स्किन खराब हो जाना, हड्डी और जोडों में दर्द, कलेजा को नुकसान पहुंचना और लडकियों में असमय मासिक धर्म। गर्भ के दौरान खास सावधानी – अत्याधिक विटामिन ए, पेट में पलते बच्चे को नुकसान पहुंचा सकता है।

स्रोत

दूध और दूध से उतपादित खाद्य पदार्थ, हरी सब्जी, पीले सब्जी (शकरकंद, गाजर), पीले या नारंगी रंग के फल (नारंगी, आम), मीट (लिवर), कोर्नफ्लेकस या अन्य कृत्रिम खाद्य पदार्थ जिसमें निर्माता द्वारा अतिरिक्त विटामिन ए मिलाया गया हो।

नापना

विटामिन ए दो तरह के युनिट से नापा जाता है। इनको बदलने के लिये फोरमुला है -

खुराक

विटामिन ए का “प्रतिदिन जरूरत” उम्र और सेहत के अनुसार बदलते रहता है।

संदर्भ

Retrieved from http://nirog.info/index.php?n=Nutrition.Vitamin-A
Page last modified on January 05, 2010, at 10:09 PM EST